रोहिल्ला युद्ध (The Rohilla War) 1774

रोहिल्ला युद्ध (The Rohilla War) 1774
रोहिलखंड अवध और मराठों के बीच स्थित एक छोटा राज्य था। इसके शासक हाफिज रहमत खान थे। उन्होंने 1772 में मराठों के हमले की आशंका से डरकर अवध के नवाब के साथ एक रक्षात्मक संधि कर ली थी।

लेकिन रहमत खान की सोच के परे ऐसा कोई हमला नहीं हुआ। इसके विपरीत  अवध के नवाब पैसों की मांग करने लगे और मांग पूरी ना होने पर, अवध के नवाब ने अंग्रेजों के साथ मिलकर सन 1774  में रोहिलकांड पर आक्रमण कर दिया। इस युद्ध में रोहिला हार गए और उनका राज्य अवध में शामिल कर लिया गया।

वारेन हेस्टिंग्स, जिन्होंने रोहिलाकांड के खिलाफ ब्रिटिश सैनिकों को भेजा था, रोहिला प्रकरण पर उनके कट्टरपंथ के लिए गंभीर रूप से आलोचना की गई थी।

कुछ बचे हुए रोहिला ने आज के उत्तरप्रदेश के रामपुर में अपना नया राज्य स्थापित किया।